त्रिफला : एक गुणकारी महाऔषधि

भारत में आज भी ऐसे कई सारे लोग हैं जो अंग्रेजी दवाओं का सेवन ना करते बल्कि कई सारे फल और जड़ी बूटियों से बनने वाली औषधि का प्रयोग अपने स्वास्थ्य को दुरुस्त रखने के लिए करते हैं। इन औषधियों में ऐसे गुणकारी असर भी होते हैं जो स्वास्थ्य समस्या से बचाए रखने में सक्रिय रूप से अपनी भूमिका अदा करते हैं। ऐसा ही एक गुणकारी चूर्ण का नाम त्रिफला है।

त्रिफला चूर्ण आंवला, बहेड़ा और हरड़ से मिलकर तैयार होता है। इन तीनों से तैयार होने के कारण यह चूर्ण औषधीय गुणों से और भी भरपूर हो जाता है जिसका सेवन आपको कई बीमारियों से बचाए रख सकता है जिसके बारे में नीचे आपको पूरी जानकारी दी गई है।

डायबिटीज के लिए मददगार

जिन लोगों को डायबिटीज से बचे रहना है उनके लिए भी यह चूर्ण काफी फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसके नियमित सेवन से खून में मौजूद ब्लड ग्लूकोज का स्तर काफी कम हो जाता है। जिसके कारण यह डायबिटीज के खतरे से आपको बचा सकता है। इसके अतिरिक्त इसमें एंटी डायबेटिक गुण भी पाया जाता है, जो टाइप 2 डायबिटीज के जोखिम से भी बचाए रखने में मदद करता है।

डिटॉक्स के रूप में

डिटॉक्सीकरण एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत शरीर में मौजूद हानिकारक गंदगी बाहर निकलती है। यह आपके शरीर के विभिन्न अंगों को सक्रिय रूप से चलाने के लिए बहुत जरूरी है जिसके लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन काफी उपयोगी साबित होगा। इसके लिए आप रात में त्रिफला चूर्ण को एक गिलास पानी में घोलकर पीएं। आपको कुछ ही दिन में इसका असर देखने को अवश्य मिलेगा।

ओरल हेल्थ के लिए

ओरल हेल्थ से जुड़ी किसी भी परेशानी का हल निकालने के लिए भी आप त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल करके इसका फायदा देख सकते हैं। वैज्ञानिकों के द्वारा भी इस पर अध्ययन किया जा चुका है और इस बात की पुष्टि भी की गई है कि इसका सेवन करने से ओरल हेल्थ में काफी हद तक सुधार किया जा सकता है। त्रिफला चूर्ण में एंटीकैरीज एक्टिविटी पाई जाती है जो दांतों को खराब होने से बचाए रखने का गुण रखता है। इसके अलावा अगर ब्रश करते हुए आपके मसूड़ों से खून निकलने लगता है तो इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए भी आप त्रिफला चूर्ण का इस्तेमाल कर सकते हैं।

कब्ज के लिए

आपके घर में कोई बुजुर्ग होंगे तो वह जरूर किसी ना किसी चूर्ण का रात में खाना खाने के बाद सेवन करते होंगे। हो सकता है कि कुछ लोग त्रिफला चूर्ण का भी सेवन कर रहे हों जिसका वैज्ञानिक कारण भी है। कब्ज की समस्या सही खान-पान न करने के कारण आजकल युवाओं में भी देखने को मिलती है। दरअसल, इसमें गैलिक एसिड की मात्रा पाई जाती है जो कब्ज की समस्या से आपको राहत दिला सकता है। कब्ज की समस्या से राहत पाने के लिए आप गर्म पानी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण मिलाकर रोजाना पीएं।

आंखों के लिए

तीन प्रकार के विशेष औषधीय गुणों वाले फल और जड़ी बूटी से तैयार होने के कारण त्रिफला चूर्ण का सेवन आंखों के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत लाभदायक रहेगा। दरअसल, इस चूर्ण में पौष्टिक तत्व मिनरल्स मौजूद होते हैं। इसके लिए आपको त्रिफला चूर्ण का सेवन पानी के साथ करना होगा जो टॉनिक के रूप में आंखों में एक तरह का एंटीऑक्सीडेंट बढ़ाता है जो आंखों की रोशनी को सही बनाए रखने के साथ-साथ अन्य नेत्र रोगों से भी बचाता हैं