पीठ और कमर दर्द में तत्काल राहत दिलाएंगे ये आयुर्वेदिक नुस्खे

पीठ दर्द के कई कारण हो सकते है, जैसे सर्जिकल डिलिवरी, गलत तरीके से सोना या उठना या बैठना। महिलाओं को आमतौर पर ऊंची हील की सैंडल पहनने से भी कमर दर्द हो सकता है। वैसे तो पीठ और कमर दर्द का ऐलोपथी के जरिये इलाज मौजूद है, लेकिन आयुर्वेदिक चिकित्सा में इन दोनों तरह के दर्द का स्थायी रूप से इलाज उपलब्ध है।

कमर दर्द होने पर काढ़ा सुबह व शाम पीने से काफी लाभ मिलता । चूंकि कमर दर्द का मूल कारण कब्ज माना जाता है, इसलिए कब्ज होने पर अरंडी के तेल का थोड़ी मात्रा में सेवन करने से काफी लाभ होता है। रात में गेहूं के दाने को पानी में भिगोकर सुबह इन्हें खसखस और धनिये के दाने के साथ दूध में मिला लें। सप्ताह में दो बार इसका सेवन करने से न सिर्फ कमर दर्द ठीक हो जाता है बल्कि शरीर में ताकत भी बढ़ती है

मालिश देता है विशेष राहत
पीठ दर्द खत्म करने के लिए हल्के हाथों से मालिश करवाने से काफी राहत मिलता है। इससे कशेरुकाएं यानी रीढ़ का जोड़ सही जगह बैठ जाता है और दर्द से छुटकारा मिलता है। पीठ दर्द से बचने के लिए जरूरी है कि कभी भी झुक कर भार न उठाएं। यह जब भी कुर्सी पर या चौकड़ी मारकर बैठे तो आगे की तरफ झुककर न बैठें। घंटों तक बैठना हो तो बीच-बीच में हिलते-डुलते रहना चाहिए।